करोड़ों के मेले में करोड़ों के होंगे वारे-न्यारे,  मगर यह तो सरकार है, सरकार जाने

 करोड़ों के मेले में करोड़ों के होंगे वारे-न्यारे,  मगर यह तो सरकार है, सरकार जाने



देहरादून। प्रदेश के हरिद्वार जनपद में  महाकुंभ का आयोजन एक विशेष  पर्व के रूप में होता है,  जहां  देशभर से करोड़ों लोग स्नान के लिए आते हैं, जिसमें साधु सन्यासी और आमजन भी शामिल होते हैं। इसके लिए प्रदेश सरकार  प्रत्येक मेले  से पहले  व्यापक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करती है इसमें  आवागमन, रहन-सहन, खानपान, और स्वास्थ्य  के साथ-साथ मेले में आने वालों के लिए स्नान  की सुविधा के साथ  व्यवस्थाएं  सुनिश्चित की जाती हैं।


मुख्य सचिव श्री उत्पल कुमार सिंह ने सोमवार को सचिवालय में महाकुम्भ 2021 की तैयारियों के संबंध में बैठक ली। मुख्य सचिव ने कहा कि कुम्भ मेले में करोड़ों श्रद्धालु आएंगे। ऐसे में सभी विभागों द्वारा किए जा रहे कार्यों की एडवांस प्लानिंग कर ली जाए। उन्होंने कहा कि कुम्भ मेले हेतु किए जाने वाले सभी कार्यों को समयबद्ध तरीके से पूर्ण करें। कुम्भ मेला को सफलतापूर्वक आयोजित करने हेतु सभी सम्बन्धित विभागों को आपसी समन्वय स्थापित कर कार्य करने की आवश्यकता है। उन्होंने सभी विभागों को मेलाधिकारी व अन्य वरिष्ठ अधिकारियों से निरन्तर समन्वय बनाने के भी निर्देश दिए। 
मुख्य सचिव ने गृह विभाग को टिहरी गढ़वाल के अन्तर्गत मुनि की रेती में सीसीटीवी कंट्रोल रूम, थाना भवन, वॉच टॉवर एवं ट्रांजिट हॉस्टल के निर्माण कार्य को शीघ्र शुरू करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि विभागों द्वारा जो भी कार्य कराये जा रहे हैं, उन कार्यां में आ रही समस्याओं से मेलाधिकारी एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारियों को भी अवगत कराएं, ताकि समस्या का समय रहते समाधान हो सके। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि प्राथमिकता वाले कार्य निर्धारित कर लिए जाएं।
बैठक के दौरान गंगा जलधारा को भीमगोड़ा कुंड में लाने एवं भीमगोड़ा कुंड के सौंदर्यीकरण की योजना, बीएचईएल मध्य मार्ग से शिवालिक नगर एवं सिडकुल को जोड़ने वाले मार्ग के मध्य रानीपुर रोह नदी पर 100 मीटर सेतु के निर्माण कार्य, जनपद हरिद्वार में एनएच-74 किमी 6 ग्राम कांगड़ी से श्यामपुर-सजनपुर पीली होते हुए रा0मा0 संख्या-74 के किमी 12 तक 2 लेन चौड़ाई में सड़क एवं काजवे का निर्माण कार्य को स्वीकृति मिली। 
विदित हो कि हरिद्वार में महाकुंभ मेला प्रत्येक 12 वर्ष के पश्चात आयोजित किया जाता है इस अवधि के बीच में अर्ध कुंभ मेले का आयोजन भी किया जाता है यह भी महत्वपूर्ण है कि प्रत्येक कुंभ मेले के पूर्व में सरकार द्वारा बड़े पैमाने पर स्थाई व अस्थाई कार्यों को अंजाम दिया जाता है कुंभ मेले के लिए जनपद के एक बड़े क्षेत्र में सभी व्यवस्थाएं की जाती है यदि सरकार सभी अवस्था अपनाओ को स्थाई रूप से निर्मित करने की व्यवस्था करें तो मैं केवल हरिद्वार जनपद का स्वरूप बदल सकता है अपितु विकास कार्यों में बार-बार लगने वाले संसाधनों की भी बचत हो सकती है। मगर यह तो सरकार है सरकार जाने।
इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव श्री ओम प्रकाश, सचिव श्री अमित नेगी, श्री शैलेश बगोली, डीजी श्री अशोक कुमार, आईजी श्री संजय गुंज्याल, मेलाधिकारी श्री दीपक रावत एवं एसएसपी मेला श्री जन्मेजय खंडूरी सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।


Popular posts