स्मार्टफोन को तकिए के नीचे रख न सोएं, कहीं पछतावा ही न रह जाए

स्मार्टफोन को तकिए के नीचे रख न सोएं, कहीं पछतावा ही न रह जाए


 


देहरादून। स्मार्टफोन आजकल की जिंदगी का एक अहम हिस्सा बन गया है  समूचे दिन की कार्यवाही आजकल स्मार्टफोन पर ही निर्भर हो गई है  यहां तक कि मनोरंजन  और दिनचर्या का  कार्यक्रम भी  स्मार्टफोन से ही चलता है  कई बार स्थिति ऐसी भी आती है कि हम स्मार्टफोन के अभाव में (चार्जिंग करते वक्त अथवा अन्य किसी कारण से) असहज महसूस करने लगते हैं।
अनेकों बार विशेषज्ञों द्वारा स्मार्टफोन के दुष्प्रभावों की भी चर्चा की जाती है खासतौर से सोने से पहले घंटों तक स्मार्टफोन और हेडफोन का उपयोग घातक सिद्ध हो सकता है इतना ही नहीं स्मार्ट फोन को चार्जिंग पर लगाने के बाद हम उसका निरंतर उपयोग करते हैं अनेकों बार यह भी देखा गया है कि स्मार्ट फोन को चार्जिंग पर लगा कर उसे सिरहाने अथवा तकिए के नीचे रखकर  लोग सो जाते हैं  जिसका बड़ा खामियाजा भुगतना पड़ता है ।


कजाकिस्तान की एक स्कूली छात्रा के साथ ऐसा ही एक वाकया  हुआ  जब उसने सोते समय अपने स्मार्टफोन को  चार्जिंग में लगा कर तकिए के नीचे रख दिया। उस छात्रा को स्मार्टफोन चार्ज करना महंगा पड़ गया। छात्रा ने स्मार्टफोन को चार्जिंग में लगाकर अपने तकिए के नीचे रख दिया था। अचानक स्मार्टफोन में धमाका हुआ और छात्रा की मौत हो गई।


कजाकिस्तान के बस्टोब की रहने वाली 14 साल की एलुआ स्टकिजी एब्जाल्बेक (Alua Asetkyzy Abzalbek) अपने स्मार्टफोन पर गाना सुन रही थी। सोने से पहले उसने स्मार्टफोन को चार्जिंग में लगाया और तकिए के नीचे रख दिया।


पुलिस के अनुसार उसने अपने स्मार्टफोन को पावर सॉकेट में प्लग किया गया था और सो गई। अचानक धमाका हुआ। धमाके के कारण उसे सिर में गंभीर चोटें आईं और उसकी मौके पर ही मौत हो गई।


पुलिस की ही तरह फोरेंसिक विशेषज्ञों ने कहा कि सुबह मोबाइल में धमका हुआ था। इस धमाके में छात्रा के सिर पर गंभीर चोटें आईं और उसकी मौत हो गई। हालांकि, स्मार्टफोन की कंपनी के नाम का खुलासा नहीं किया गया है।
 यहां कजाकिस्तान का वाकया वर्णित किया गया है, लेकिन स्मार्टफोन की इस हकीकत से कहीं भी इनकार नहीं किया जा सकता। आप सभी जानते हैं कि स्मार्टफोन को ज्यादा देर इस्तेमाल करने पर अथवा चार्जिंग पर अधिक देर लगाए रखने से वह गर्म हो जाता है। अधिक गर्म होने पर स्मार्टफोन के फटने की संभावनाएं बन जाती है। स्मार्टफोन से निकलने वाली रेडिएशन और उसके नुकसान से भी हम सभी परिचित है। ऐसे में सतर्कता बरतना और सतर्कता बनाए रखना ही एकमात्र उपाय है जिससे हम खुद को स्मार्टफोन के दुष्प्रभावों से बचा सकते हैं।


स्मार्टफोन के फटने के प्रमुख कारण:


फोन फटने का सबसे सामान्य कारण हो सकता है, इसकी बैटरी का अधिक गर्म होना। अगर आप फोन को घंटों तक चार्जिंग पर लगाकर छोड़ देते हैं या फिर चार्जिंग पर लगाने के बावजूद फोन पर बातें करते हैं, तो इसकी बैटरी अत्यधिक गर्म होने के साथ अतिरिक्त चार्ज हो रही है। ऐसी स्थ‍िति में बैटरी पिघल भी सकती है। 
2 गलत चार्जर का इस्तेमाल - अगर आप अपने स्मार्टफोन को किसी भी लोकल चार्जर या फिर अन्य चार्जर से चार्ज करते हैं, तो यह आपके फोन और बैटरी के लिए बेहद खतरनाक साबित हो सकता है।
3 अगर आप किस सस्ती बैटरी का प्रयोग कर रहे हैं, तो यह जल्दी गर्म होने एवं फूलने जैसी समस्या के कारण ब्लास्ट भी हो सकती है। इसके अलाव चार्जिंग सर्किट और इनपुर पावर में किसी भी प्रकार का फॉल्ट होता है, तब भी बैटरी अधिक गर्म होकर फट सकती है। 
4 अगर आप अपने स्मार्टफोन में स्मार्ट विंडो पर काम करते हैं, तो इससे फोन की बैटरी पर दबाव अधिक पड़ता है। इस स्थिति में इस बारे में विशेष ध्यान देने की जरूरत है। 
स्मार्टफोन की बैटरी लिथियम आयन की बनी होने के कारण हल्की होती हैं, उंचाई से गिरने पर इनमें शॉर्ट सर्किट का खतरा बना रहता है। इस परिस्थिति में बैटरी व फोन के फटने की संभावना अधिक होती है।


Popular posts