जानिए कौन सी जानकारी छुपी है आपके पैन नंबर में

जानिए कौन सी जानकारी छुपी है आपके पैन नंबर में



नई दिल्ली। आपके पैन कार्ड पर 10 अंकों का एक कोड है। जिसे पैन नंबर बोला जाता है। यह कोड कोई साधारण नंबर नहीं होता। बल्कि पैन कार्ड धारक के बारे में कुछ जानकारियां लिए हुए एक कोड होता है। यूटीआई और एनएसडीएल के जरिए पैन कार्ड जारी करने वाला आयकर विभाग पैन कार्ड के लिए एक विशेष प्रक्रिया का उपयोग करता है। 10 डिजिट वाले पेन कार्ड नंबर में नंबरों और अक्षरों का एक मिश्रण होता है इसमें पहले पांच करैक्टर हमेशा अक्षर होते हैं फिर अगले 4 करैक्टर नंबर होते हैं और फिर अंत में वापस एक अक्षर आ जाता है। आपके लिए यह जानकारी इसलिए भी जरूरी है क्योंकि अगर आपने पैन कार्ड में ओ और जीरो दोनों हैं तो आप इन्हें पहचानने में कंफ्यूज हो जाओगे लेकिन अगर आपको नंबर और अक्षरों का पैटर्न पता है तो आप इन्हें अलग अलग पहचान सकते हैं।
आपके पैन कार्ड के पहले 5 करैक्टर में से पहले तीन करैक्टर एल्फाबैटिक सीरीज को दिखाते हैं। पैन नंबर का चौथा करैक्टर यह बताता है कि आप आयकर विभाग की नजर में क्या है। जैसे अगर आप एक व्यक्ति हैं तो आपके पैन कार्ड का चौथा करैक्टर P होगा।
आइए जानते हैं कि बाकी के अक्षरों का क्या मतलब होता है।
C कंपनी हिंदू अविभाजित परिवार से व्यक्तियों का संघ है वह भी बॉडी ऑफ इंडिविजुअल
G सरकारी एजेंसी
J आर्टिफिशियल जुडिशल पर्सन
L लोकल अथॉरिटी
F फर्म लिमिटेड लायबिलिटी पार्टनरशिप
T ट्रस्ट
इसके बाद आपके पैन नंबर का पांचवा करैक्टर आपके सरनेम के पहले अक्षर को दर्शाता है अर्थात अगर आपका सरनेम गुप्ता है तो आपके पैन नंबर का पांचवा करैक्टर G होगा
वहीं non-individual पैन कार्ड धारकों के लिए पांचवा करैक्टर उनके नाम के पहले अक्षर को दर्शाता है अगले 4 करैक्टर नंबर होते हैं जो 0001 से 9990 के बीच हो सकते हैं इसके बाद आपके पेन का अंतिम करैक्टर हमेशा एक अक्षर होता है।


Popular posts